दर्द के लिए दवाओं का कहें न
| 2/2/2019 6:26:18 PM

Editor :- Mini

अगर हर छोटे से छोटे दर्द में आप पेन किलर या दर्द निवारक दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो यह जान लिजिए कि निकट भविष्य में इसका दुष्प्रभाव किडनी पर नजर आने वाला है। अहम यह है कि अधिकांश लोगों को इसका पता भी नहीं चलता और उनकी जिंदगी दर्द निवारक दवाओं के सहारे चलती रहती है, इस बात से बेखबर कि दर्द से आराम पाने के लिए दवाओं से भी अधिक बेहतर और कारगर विकल्प मौजूद हैं।
एमैक्स कंज्यूमर हेल्थ केयर ग्रुप के निदेशक अमरजीत सिंह कहते हैं कि दर्द निवारक दवा हमारे यहां लोग बिना चिकित्सक की सलाह के भी ले लेते हैं, जिन्हें ओटीसी या फिर ओवर द काउंटर मेडिसन के नाम से भी जाना जाता है। जबकि दर्द निवारक दवाओं के संदर्भ में अब तक किए गए अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि इसका सेवन किडनी को बीमार करता है। इसके लिए कंपनी ने फायटोजेनिस फार्मुले पर आधारित पेन रिलीफ तेल आर्थो प्लस लांच किया है, जिसका अहम पहलू है कि यह नसों में जम कर पुराने से पुराने दर्द को खींचकर बाहर कर देता है। अभी मौजूद दर्द निवारक तेल और बॉम में पीपरमिंट या कैमिकल मिलाया जाता है जो लगाने पर त्वचा में रमता नहीं बल्कि उड़ जाता है और मरीज का दर्द ज्यूं का त्यूं बना रहता है। इसे पुरानी जड़ी बूटियों के सत से तैयार किया गया है जो त्वचा में रम जाता है और मरीज को महीने भर के नियमित इस्तेमाल के बाद आराम मिलना शुरू हो जाता है।


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 433515