80 की उम्र तक 80 का फंडा रखेगा दिल दुरूस्त
| 1/29/2017 10:29:17 PM

Editor :- Rishi

नई दिल्ली: अगर आप 80 की उम्र का आंकड़ा पार करने वाले हैं या पार कर चुके हैं तो सही समय पर अपनाया गया 80 का फंडा आपके दिल को दुरूस्त रख सकता है। कार्डियोलॉजी सोसाइटी ऑफ इंडिया के वार्षिक समारोह में दिल के बढ़ते मरीजों की संख्या कम करने के लिए 15 प्रमुख बिन्दुओं के 80 के फंडे को लोगों को सिखाने की बात कही गई।

कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. केके अग्रवाल ने बताया कि सर्दियों में हर साल दिल्ली में दिल के दौरे के मरीजों की संख्या 4 प्रतिशत बढ़ जाती है। देखा गया है कि 70 के बाद लोगों को अचानक अपने दिल की याद आती है, जबकि तब तक बहुत देर हो चुकी होती है, जबकि 40 के बाद ही दिल का विशेष ख्याल शुरू कर देना चाहिए, इसलिए सामान्य दिनचर्या में 80 का फंडा अपनाना जा सकता है।

जीबी पंत अस्पताल के पूर्व विभागाध्यक्ष और हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. खलीलुल्लाह ने बताया कि जेनेटिक कारणों की वजह से देश में अब लोग कम उम्र में दिल के मरीज हो रहे हैं। जिसमें बिगड़ती दिनचर्या का भी अहम योगदान है, कार्डियोलॉजी सोसाइटी ऑफ इंडिया ने नये सिरे से दिल के मरीजों की सही संख्या जानने के लिए ऑडिटरी व्यवस्था शुरू करने की बात कही है।

डॉ. अशोक सेठ ने बताया कि हार्ट अटैक के बाद 40 मिनट के अंदर मरीज की एंजियोप्लास्टी हो जानी चाहिए। ऐसे अस्पतालों का डाटा बैंक तैयार कर सही समय पर दिल का इलाज मिलने की डायरेक्ट्ररी तैयार करने के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों से आंकड़े उपलब्ध कराने को कहा गया है। एम्स के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. एके बहल ने बताया कि कोरोनरी या धमनियों की समस्या को देखते हुए देश में अधिक से अधिक अस्पतालों में कोरोनरी केयर यूनिट खोली जाएगीं।

80 को रखें याद
-निम्न ब्लड प्रेशर, फॉस्टिंग शुगर और एलडीएल 80 से अधिक न हो
-रोजाना 80 कदम पैदल जरूर चले, 80 मिनट टहलना भी फायदेमंद
-एक समय के खाने में 80 एमजी से अधिक कैलोरी का सेवन न करें
-साल में कम से कम 80 दिन सूरज की धूप के जरिए विटामिन डी जरूर लें
-जीवन में कम से कम 80 बार रक्तदान जरूर करें, इससे खून की आपूर्ति बेहतर होगी
-अगर दिल के मरीज हैं तो 80 एमजी से अधिक एस्प्रिन दवा न लें

सर्दी में ऐसे रखें दिल का ख्याल
-अधिक वसा और खाने के सही अनुपात का चयन करें
-यदि नहीं कर पा रहें है शारीरिक श्रम तो न ले अधिक वसा
-सर्दियों में धमनियां सिकुड़ जाती हैं, इसलिए नमक भी कम लें
-ठंड बढ़ने से पहले दवाओं को दोहरा लें, ब्लडप्रेशर का ध्यान रखें
-डायबिटीज के मरीज सर्दियों की डायट का रखें विशेष ख्याल


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 1053788