एलएनजेपी हॉस्पिटल में जुड़वा बेबी को अगल किया जाएगा
Editor : monika
 17 Mar 2017 |  123

नई दिल्ली: कस्तूरबा गांधी हॉस्पिटल में जन्म लेने वाली जाइंट ट्वीन बेबी को एलएनजेपी हॉस्पिटल में अलग किया जाएगा। कस्तूरबा गांधी हॉस्पिटल से ट्वीन बेबी को एलएनजेपी रेफर कर दिया गया है। एलएनजेपी हॉस्पिटल के डॉक्टर का कहना है कि अस्पताल पूरी तरह से इस सर्जरी को करने में सक्षम है, लेकिन अभी सर्जरी नहीं होगी। डॉक्टर के अनुसार दोनों बेबी अभी छोटे हैं, इसलिए सर्जरी के लिए इंतजार किया जाएगा। कम से कम दो से तीन महीने बाद ही सर्जरी होगी। जब एक बार दोनों का वजन बढ़ जाएगा और लीवर का साइज भी बड़ा होगा तो सर्जरी आसान हो जाएगी।

2 मार्च को कस्तूरबा गांधी अस्पताल में इस जाइंट ट्वीन बेबी डिलिवरी हुई थी। डिलिवरी के बाद जब दोनों बच्चे जांइट पाए गए तो डॉक्टर भी हैरान थे, क्योंकि अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में जांइट का पता नहीं चला था। हालांकि, डॉक्टर का कहना है कि पेट से जुड़े इस ट्वीन में लीवर ही एक मात्र अंग है जो दोनों का एक ही है, बाकी सभी अंग दोनों अलग अलग है। इसलिए दोनों को सर्जरी के जरिए अलग अलग किया जा सकता है। हालांकि यह एक चैलेंजिंग सर्जरी है, जिसके लिए एलएनजेपी हॉस्पिटल के डॉक्टर तैयार हैं।


Browse By Tags




Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 1370214