सीजीएचएस मेडिकल सुविधा के रेट नौ साल बाद बढ़ाए
| 4/14/2023 1:15:59 PM

Editor :- Mini

नई दिल्ली

केन्द्र सरकार की तरफ से सरकारी कर्मचारी और सीजीएचएस कार्ड धारकों के लिए एक अच्छी खबर है। सरकार ने सीजीएचएस मेडिकल कार्ड धारकों के उपचार पैकेज में वृद्धि की है। यह वृद्धि दोगुनी है, जिसका सीधा फायदा लाभार्थियों को होगा। सरकार ने सीजीएचएस पैकेज में उपचार के शुल्क की समीक्षा की और पात्रता मानदंड बढ़ाए गए हैं। मालूम हो कि इससे पहले वर्ष 2014 में कार्ड धारकों के मेडिकल शुल्क में बढ़ोतरी की गई थी। 

इस पैकेज में 2014 के बाद से कोई रेट रिवीजन नहीं हुआ। इसे देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने कई स्तरों पर बातचीत के जरिए सीजीएचएस से जुड़े पैकेज रेट बढ़ाने का फैसला किया है। इससे बड़े पैमाने पर अस्पतालों को फायदा होगा। इस फैसले से सरकार पर ₹240 करोड़ से ₹300 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

अस्पताल इलाज से इंकार नहीं कर पाएगा

अब सीजीएचएस के तहत आने वाले अस्पताल इलाज से मना नहीं कर सकेंगे क्योंकि सरकार ने सीजीएचएस के तहत आने वाले अस्पतालों, जांच केंद्रों की फीस बढ़ाने का फैसला किया है. दरअसल, फीस कम होने के कारण सीजीएचएस योजना के मरीज अस्पताल में इलाज कराने से कतरा रहे थे। ऐसे में नए रेट रिवीजन से उन्हें ज्यादा फीस मिलेगी। 42 लाख से ज्यादा कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर यह है कि अब अस्पताल मना नहीं कर पाएंगे. साथ ही, अधिक अस्पताल पैनल में होंगे। इसके साथ ही कई टेस्ट की दरों में भी बदलाव किया गया है।

वीडियो कॉल से हो जाएगा रेफर 

अब इस योजना के तहत सरकारी कर्मचारियों के लिए रेफरल की प्रक्रिया को सरल कर दिया गया है। अब वे वीडियो कॉल के जरिए भी रेफरल दे सकेंगे। पहले सीजीएचएस लाभार्थी को स्वयं सीजीएचएस वेलनेस सेंटर जाकर अस्पताल के लिए रेफर लेना पड़ता था, लेकिन अब यदि सीजीएचएस लाभार्थी नहीं जा पाता है तो वह अपनी ओर से किसी को वेलनेस सेंटर भेजकर रेफरल ले सकता है। चिकित्सा अधिकारी द्वारा दस्तावेजों की जांच कराने के बाद वह लाभार्थी को अस्पताल जाने के लिए रेफर कर सकता है। इसके अलावा सीजीएचएस लाभार्थी अब वीडियो कॉल के जरिए भी रेफरल ले सकता है।



सीजीएचएस की सीमा क्या है-

इस योजना के तहत 42 लाख लाभार्थियों को लाभान्वित किया जा रहा है। इसके कुल 338 केन्द्र हैं, जिनमें एलोपैथिक और 103 आयुष पद्धति के हैं। ये केंद्र देश के 79 शहरों में हैं। पैनलबद्ध अस्पतालों की संख्या 1670 है। 213 डायग्नोस्टिक लैब हैं। पंचकूला, हुबली, नरेला, चंडीगढ़ और जम्मू में विस्तार हो रहा है। 35 और आयुष केंद्र स्थापित करने की तैयारी है।



परिवर्तित सीजीएचएस शुल्क

चिकित्सा सेवा         तब            अब

ओपीडी                150           300

आईपीडी               300          350

आईसीयू        862 एनएबीएच      5400 वार्ड अनुसार

                      अस्पताल

रूम रेंट         जनरल  1000          1500(15 प्रतिशत वृद्धि)

           सेमी प्राइवेट  2000            3000

            प्राइवेट      3000             4500

 



Browse By Tags



Videos
Related News

Copyright © 2016 Sehat 365. All rights reserved          /         No of Visitors:- 585950